Loading

Enquiry
Enquiry
digital advertising
Contact Form

7000 वर्ष पुराना शहर

हाल ही में मिस्र के दक्षिण प्रांत सोहाग में 7000 वर्ष पुराने शहर व कब्रिस्तान की खोज की गई है, जो शायद यहां पर राज करने वाले पहले राजवंश की निशानी है। 
इसका नाम प्राचीन मिस्र के नए साम्राज्य अवधि के सबसे कम ज्ञात 'फैरो' यानी मिस्र के राजा के नाम पर रखा गया है। स्थानीय सरकार द्वारा आरम्भ किए गए पुरातात्विक मिशन के दौरान इस शहर का पता चला है। यह काहिरा से 250 मील दक्षिण, सेती प्रथम के मंदिर क्षेत्र के सबसे प्रसिद्ध धार्मिक स्थलों में से एक है। खोज में झोपड़ियां, मिट्टी के बर्तनों के अवशेष, लोहे के औजार और 15 कब्रें मिली हैं। कब्रों का आकार अबिडोस के राजाओं के शाही कब्रों से भी बड़ा है। इससे ज्ञात होता है कि ये कब्रें समाज में काफी ऊंचा स्थान रखने वाले व्यक्तियों की होगीं। 
नील नदी के पार स्थित शहर लक्सर से सटा हुआ है। और यह शहर प्रमुख अधिकारियों और मकबरा बनाने वालों का घर था। इस खोज से प्राचीन मिस्र के सबसे पुराने शहर अबिडोस के विषय में और जानकारी मिलने की संभावना भी व्यक्त की जा रही है।
अनुमान लगाया जा रहा है कि यह शहर प्राचीन मिस्र के आरम्भिक दौर में आबाद रहा होगा।
इस खोज को मिस्र के बीमार पर्यटन उद्योग के लिए बहुत ही अच्छा संकेत माना जा रहा है, जो 2011 में, तानाशाह होस्नी मुबारक के अपदस्थ किए जाने के पश्चात लगातार गिरावट को देख रहा है। हालाँकि यह अब भी विदेशी मुद्रा का अच्छा स्रोत है।
मिस्र के विशाल पिरामिड दुनिया भर में प्रसिद्ध हैं। इन पिरामिडों में ऐतिहासिक दौर के प्रमुख लोगों के शवों को खास तेल और मसालों की सहायता से रखा गया है। दुनियाभर से पर्यटक इन्हें देखने के लिए यहां आते हैं।


Binoculars/Information