Loading

Enquiry
Enquiry
digital advertising
Contact Form

एप्पल उपग्रह

इस उपग्रह का पूरा नाम 'एरियन पैसेंजर पेलोड एक्सपेरीमेंट' था। ये उपग्रह भारत में निर्मित होने वाला पहला प्रायोगिक संचार उपग्रह था। जिसमें सिर्फ सी-बैंड ट्रांसपांडर थे। इसकी लॉन्चिंग 19 जून, 1981 में यूरोपीय अंतरिक्ष संस्था के एरियन राकेट से की गई थी। जो एक बेलनाकार उपग्रह था। इस उपग्रह का वजन 350 किलोग्राम था। इस उपग्रह के प्रयोग से टेलीविजन कार्यक्रमों के प्रेषण, रेडियो नेटवर्किंग जैसे संचार परीक्षण किए गए थे। 

मिशन प्रायोगिक भूस्थिर संचार क्या है:-

वजन 670 किग्रा0
ऑनबोर्ड पॉवर 210 वॉट्स
संचार वीएचएफ़ तथा सी-बैंड
स्थिरीकरण - अभिक्रिया चक्र, आघूर्णक, हाइड्राज़ीन आधारित अभिक्रिया नियंत्रक प्रणाली के साथ ही स्थिरीकृत तीन अक्षीय पिंड (अभिनति संवेग) भी होगा 
नीतभार - सी-बैंड प्रेषानुकर (दो) होते है 
प्रमोचन - दिनांक 19 जून, 1981 में 
प्रमोचन स्थल - कौरू (सीएसजी), फ्रेंच गियाना
प्रमोचन यान - एरियाने-1 (वी-3)
कक्षा     भू-तुल्यकाली (102 डिग्री पू. देशांतर, इंडोनेशिया के ऊपर)
आनति - लगभग शून्य
मिशन समयावधि -दो साल थी 


Binoculars/Information