Loading

Enquiry
Enquiry
digital advertising
Contact Form

भारतीय ग्राम पंचायत की व्यवस्था

सरपंच के विषय में भी जान ले .बहुत जरूरी है सरपंच को जानना .शिक्षित सरपंचका होना बहुत जरूरी है. हरयाणा सरकार द्वारा लिए गए फैसले के सन्दर्भ में कुछ खबर है क्या ?हरयाणा सरकार पढ़े लिखे पंच और सरपंच के लिए कोर्ट में केस तक लड़ रही है,किसी गाँव के लिए उसके सरपंच की क्या भूमिका है मुखियारूप में सरपंच के कौन कौन से काम है. कहिये जानते है .किसी भी गांव का सरपंच उस गाँव की रीढ़ होती/होता है .और यदि वो ही अशिक्षित 
(मुखिया) हो तो फिर आप समझ सकते है कि गाँव किस दिशा में प्रगति करेगा.तभी तो किसी भी सरपंच का ईमानदार व पढ़ा लिखा होना बहुत जरूरी है.
                                      भारतीय ग्राम पंचायत की व्यवस्था   
भारत की पंचायत राज व्यवस्था के अनुरूप, गाँव में ग्राम पंचायत एक लोकल गवर्नमेंट का किरदार निभाती है. हर पांच साल में ग्राम पंचायत का चुनाव होता है. इसमें सीटों को SC,BC  महिलाओ की मेजोरिटी के अनुरूप सुरक्षित की जाती है. अनुमानित तौर पर भारत में  250000 ग्राम पंचायते होगी . 
 

प्रमुख रूप में ग्राम पंचायत की जिम्मेदारियां ये सभी है!
1. ग्राम पंचायत की जिम्मेदारी है -घरेलु उपयोग के लिए पानी का इंतजाम किया जाना .
2. ग्राम पंचायत की जिम्मेदारी है - पशुओं को पीने योग्य पानी की व्यवस्था की जाए . और  जोहड़ का उचित रख रखाव किया जाए .
3. ग्राम पंचायत की जिम्मेदारी है - पशु पालन व्यवसायों को बढ़ाने पर जोर देना. दूध  केंद्र ,डेरी की उचित व्यवस्था करना.इसके साथ ही दुधारू पशुओ को उचित खाद्य सामग्री का प्रयोग करना. पशुओं में होने वाली बीमारी से बचाव करना और बीमारी फैलने से रोकना .
4. गाँव की सड़के पक्की बनवाना तथा सड़को के रख रखाव की उचित व्यवस्था करना .
5. सिचाई के साधन की व्यवस्था करने में ग्रामीणों की मदद करना
6. गाँव में स्वच्छता बनाये रखना व ग्रामीणों की सेहत और स्वास्थ्य के लिए जरुरी इंतजाम करना
7. गाँव में पब्लिक बिल्डिंग्स, घास वाली जमीन, जंगल, पंचायती जमीन, गाँव के कुओं, गाँव के टैंक और पथवेज़ को बनाना, उनको रिपेयर करना और उनका रख रखाव करना
8. गाँव के पब्लिक प्लेसेस जैसे की विलेज चौपाल, गली व सामाजिक स्थानों पर लाइट्स का इंतजाम करना
9. गाँव में मेले, दंगल, कबड्डी, बाजार और पब्लिक मार्किट में व्यवस्था बनाये रखना और जहाँ जरुरी ही पार्किंग और स्टैंड की व्यवस्था करना
10. दाह संस्कार (Cremation) व कब्रिस्तान (Cemetery) का रख रखाव करना
11. एग्रीकल्चर डेवलपमेंट प्रोग्राम में हिस्सा लेना व ग्रामीणों को कृषि से सम्बंधित डेवलपमेंट्स के बारे में बताना और कृषि को बढ़ावा देने वाले प्रयोगों को इस्तेमाल करने के लिए ग्रामीणों को प्रोत्साहित करना
12. गाँव में आर्गेनिक खेती को बढ़ावा देना व देसी विदेशी का फर्क बताकर ग्रामीणों को देसी वस्तुओं का प्रयोग करने के लिए प्रोत्साहित करना
13. गाँव में पब्लिक लाइब्रेरी की स्थापना करना, प्राथमिक शिक्षा को बढ़ावा देना और जरुरी हो तो ऊँचे लेवल के स्कूल की स्थापना के लिए जरुरी कार्यवाही करना
14. बच्चों के लिए खेल के मैदान का इंतजाम करना व खेल कूद से सम्बंधित सामान की व्यवस्था करना! साथ में विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिता कराकर बच्चों में खेल और पढाई की भावना को प्रोत्साहित करना 
15.स्वछता अभियान को आगे बढ़ाना, गाँव में पब्लिक टॉयलेट और लैट्रिन बनाना व उनका रख रखाव करना! साथ में घरेलु लैट्रिन बनाने के लिए ग्रामीणों को प्रोत्साहित करना 
16. ग्रामीण रोड्स व पब्लिक प्लेसेस पर पर पेड़ लगाना व उनका रख रखाव करना! ग्रामीणों में वृक्षारोपण की भावना को बढ़ावा देना 
17. गाँव के टैक्सेज जैसे की चूल्हे टैक्स वगेरा की कलेक्शन करना
18. गर्ल चिल्ड्रन को बचाने व बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ स्कीम को आगे बढ़ाना
19. ग्रामीणों को दुर्व्यशन जैसे की शराब की बुरी लत, ड्रग्स का इस्तेमाल करने आदि से दूर रहने की सलाह देना और जरुरी हो तो इन सब बातों को बढ़ावा देने वाले लोगों के विरुद्ध कार्यवाही करना
20. गाँव में फारेस्ट स्कीम इंट्रोडूस करना व गाँव में आमदनी वाले पेड़ पोधे लगाने के लिए ग्रामीणों को प्रोत्साहित करना
21. चौकीदार के साथ मिलकर जनम मृत्यु विवाह आदि का रिकॉर्ड रखना और एडमिनिस्ट्रेशन को इन्फॉर्म व अपडेट करना
22. गरीब बच्चों के लिए फ्री एजुकेशन और ट्रांसपोर्ट की व्यवस्था करना
23. जवान बच्चों के लिए हायर एजुकेशन व जॉब ओरिएंटेड प्रोग्राम की व्यवस्था व उनको अपडेट करना
24. गाँव में भाई चारे का माहौल बनाना, झगड़ों को सुलझाना व दोस्ताना माहौल पैदा करना
25. गाँव की भलाई के लिए सरकार से ग्रांट और गरीबों के मदद के रास्ते तलाशना
26. गाँव में किसी भी अनहोनी की सूरत में मिल बैठकर सबके दुःख को बाटना व समस्या का समाधान करना
28. आगनवाड़ी केंद्र को सुचारू रूप से चलाने में मदद करना
29. गरीबों के लिए प्लाट काटना व ग्राम पंचायत की जमीन को पटटे पर देना
30. सरकार के डिजिटल हरयाणा और डिजिटल इंडिया मिशन में सहयोग करे, लोगों को जागरूक करे व सबका साथ सबका विकाश करते हुए गाँव और देश को आगे ले जाने में मदद करे
31. मनोरंजन, सोशल वेलफेयर स्कीम, बचत भावना, इन्शुरन्स, कृषि ऋण, मुआवजा, राशन कार्ड, वोटर कार्ड, पेन कार्ड, पासपोर्ट, पब्लिक/ गवर्नमेंट स्कीम, स्वछता अभियान, कन्या बीमा योजना आदि के बारे में जानकारी रखना, उनके जरुरी फॉर्म रखना व इन सभी कार्यों के लिए जितना जरुरी हो मदद करना

सरपंच का चुनाव, रोल और जिम्मेवारी (Election of Sarpanch, Sarpanch Roles and Responsibility) :
सरपंच गाँव का मुखिया होता है उसे गाँव के मुखिया के रूप में गाँव की भलाई के लिए फैसले लेने होते है और ग्राम पंचायत के लिए जो कार्य ऊपर लिखे गए है उनमें सरपंच की अहम भूमिका होती है!  इन सभी कार्यों को करने के लिए सरपंच के पास पावर होती है, इन कार्यों को करने की उसकी जिम्मेवारी होती है और उसका दायित्व होता है की वह गाँव की भलाई के लिए हर वह सामाजिक कार्य करे जिससे जन जन का भला होता हो! उसे सभी के सुख दुःख में शामिल होना चाहिए व एक सच्चे सेवक की भांति कार्य करना चाहिए!  

 
पंच का चुनाव, उसकी जिम्मेवारी व कर्तव्य (Panch Responsibility and Duties) :
पंच का चुनाव एक वार्ड में किया जाता है! एक विलेज पंचायत में 5 से लेकर 21 मेंबर तक हो सकते है! गाँव की पापुलेशन के आधार पर पंच की कुछ सीट SC, BC और लेडीज के लिए रिजर्व्ड होती है!  पंच भी गाँव में एक बहुत ही महत्तवपूर्ण भूमिका निभाता है, पंच की मेजोरिटी के आधार पर ही एक सरपंच कोई कार्य प्लान और परफॉर्म कर सकता है! जबतक सरपंच के पास पंच की मेजोरिटी नहीं होगी वह कोई कार्य नहीं कर सकता है! 


Binoculars/Information