Loading

Enquiry
articale
digital advertising
Contact Form

इन उपाय को करने से जल्द ही बढ़ सकती है आपकी लम्बाई

नीचे दिए गए खाद्य पदार्थों की सूची है जो आपकी ऊंचाई को स्वाभाविक रूप से बढ़ाने में आपकी मदद करेंगे।
दूध : दूध कैल्शियम का एक उत्कृष्ट स्रोत है इसके अलावा, इसमें विटामिन ए होता है जो शरीर में कैल्शियम को संरक्षित करता है।
सोयाबीन : बढ़ती ऊंचाई के लिए, प्रत्येक दिन 50 ग्राम सोयाबीन लेना चाहिए।
अगर आप भी आयुर्वेद के अनुसार अपनी हाइट बढ़ाना चाहते है तो आपको इन चीज़ो की आवश्यकता होगी।
गुड़
गाय का दूध
एक गिलास दूध में गुड़ मिलाकर सोने से पहले पीने से लाभ मिलेगा, 45 दिन में श्रेष्ठ परिणाम देखने को मिलेगा। 

नीम्बू के छिलके के साथ ले अदरक का रस, पेट की चर्बी से मिलेगी मुक्ति

आज लगभग हर कोई अपने बढ़ते वजन को लेकर परेशान है। तो चलिए जानते है की क्या है वो घरेलू नुस्खा जो आपकी परेशानी को कर सकता है दूर
1 लीटर पानी को गर्म होने के लिए रख दे और गर्म होने के बाद उसमें 5 नींबू के छिलको को डालकर पानी को अच्छे से 10 मिनट के लिए उबाल ले फिर उसमें एक चम्मच अदरक के रस को अच्छे से मिला ले आपका नुस्खा बन कर तैयार हैं। आपको सुबह इस पानी का सेवन करना है और इसके एक घंटे तक कुछ नहीं खाना है।  मोटापा कम करने का यह सबसे आसान व सबसे अच्छा नुस्खा है इसीलिए मोटापा कम करने के लिए इसका सेवन जरूर करना चाहिए। 

सात दिनों में फायदे दिखेंगे ये फल खाकर

अनार शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है क्योंकि अनार फाइबर विटामिन सी में समृद्ध है। यह फल के लाभ जानकर आप भी हैरान हो जाएंगे-
मधुमेह : मधुमेह रोगियों के लिए अनार के सेवन को बहुत ही फायदेमंद बताया गया है।
कैंसर : अनार में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट तत्व शरीर के टॉक्सिन को बाहर निकालता है जो ब्रेस्ट कैंसर के लिए फायदेमंद है। 
वजन घटाएँ : आपका वजन सामान्य से ज्यादा हो तो अनार का सेवन आपके लिए बहुत ही फायदेमंद होगा।
हृदय रोगियों के लिए : अनार खाने से हार्ट अटैक का खतरा काफी कम होता है। 

स्वाइन फ्लू से बचने के लिए अपनाएं आसान सा घरेलू नुस्खा

मनुष्यों में खांसी, थकान, नजला, उल्टी आना, बुखार, दस्त, शरीर में दर्द आदि स्वाइन फ्लू के लक्षण हैं।
गिलोय बेल की डंडी को पानी में उबाल या छानकर पिएं।
5-6 पत्ते तुलसी और काली मिर्च के 2-3 दाने पीसकर चाय में डालकर दिन में दो-तीन बार पीने से लाभ होगा।
गले और फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए रोजाना प्राणायाम करें और जॉगिंग करें।
तुलसी पत्र एवं आज्ञाघास उबालकर पिएं।
गोली के आकार का कपूर के टुकड़े का महीने में एक या दो बार सेवन करें।
स्वाइन फ्लू में नीम खाना लाभदायक है।
लहसुन खाने से भी इस बीमारी से मुक्ति मिलेगी।
खट्टे फल और विटामिन सी से भरपूर आंवला जूस आदि का सेवन करें।
स्वाइन फ्लू में ताजे फल, हरी सब्जियां, सभी तरह की दालें खाए।

मोटापे से लेकर कैन्सर तक, कालीमिर्च है लाभदायक

काली मिर्च से मोटापा तेजी से कम होने लगता है। सुबह सुबह काली मिर्च का सेवन करने से मोटापा तेजी से कम होने लगता है।
गठिया रोग में काली मिर्च का इस्तेमाल बहुत ही फयदेमंद होता हैं। 
काली मिर्च सेवन करके हम अपने जोड़ों के दर्द में राहत पा सकते है। 
कैंसर से बचाव करना है तो काली मिर्च का सेवन जरूर करना चाहिए। 
बवासीर से बचने के लिए जीरा, काली मिर्च और चीनी या मिशरी को पीस कर एक साथ मिलाकर सुबह शाम खाएं।
ब्लड प्रेशर लो रहता है, तो दिन में दो-तीन बार पांच दाने कालीमिर्च के साथ 21 दाने किशमिश का सेवन करें।
शहद में पिसी काली मिर्च मिलाकर दिन में तीन बार चाटने से खांसी बंद हो जाती है।
आँखों की रोशनी बढ़ाने के लिए घी, कालीमिर्च, मिश्री मिलाकर चाटें।


और अधिक स्वस्थ्य के लिए