Loading

Enquiry
articale
digital advertising
Contact Form

लॉन्च हुआ सबसे सस्ता फ़ोन

जियो फोन के बाद डीटेल नामक एक कंपनी ने देश में दुनिया का सबसे सस्ता फीचर फोन डीटेल डी1 लॉन्च किया है। कंपनी के दावे के अनुसार इस फोन को सिर्फ 299 रुपये में खरीदा जा सकेगा। फोन की ऑनलाइन बुकिंग कंपनी की वेबसाइट detel-india.com से हो रही है। वेबसाइट पर दी गयी जानकारी के अनुसार  बुकिंग के 8-10 दिनों के अंदर ही  फोन की डिलीवरी हो जाएगी।

SBI ने खाताधारकों से वसूले 235.06 करोड़ रुपये

देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने ग्राहकों से मिनिमम बैलेंस मेंटेन न करने पर 235.06 करोड़ रुपये का जुर्माना वसूला है. ये जुर्माना कुल 388.74 लाख खातों से वसूला गया है. बैंक की ओर आरटीआई के तहत भेजे गये जवाब में हालांकि यह साफ नहीं किया गया है कि तय मासिक औसत जमा राशि नहीं रखे जाने पर किस श्रेणी के खातों से शुल्क कटौती की गयी है.लेकिन सामजिक कार्यकर्ता चन्द्रशेखर गौड़ का कहना है कि इस वसूली से गरीब तबके के वे ग्राहक सबसे ज्यादा प्रभावित हो रहे हैं, जो एसबीआई में बचत खातों में छोटी-छोटी रकम जमा करते और निकालते रहते हैं.

गिरावट के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, सेंसेक्स 270 अंक लुढ़कर 31524 के स्तर पर

शुक्रवार को भारतीय शेयर बाजार गिरावट के साथ कारोबार कर बंद हुए हैं। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 270 अंक की कमजोरी के साथ 31524 के स्तर पर और निफ्टी 67 अंक की कमजोरी के साथ 9837 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुआ है। निफ्टी 9850 के नीचे कारोबार कर बंद हुआ है। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर मिडकैप में 0.45 फीसद और स्मॉलकैप में 0.42 फीसद की कमजोरी देखने को मिली है।


एक्सिस बैंक ने किया नया होम लोन प्रोडक्ट लॉन्च

एक्सिस बैंक ने एक होम लोन प्रोडक्ट लॉन्च किया है, जो कि लोन की अवधि के दौरान कुछ ईएमआई को माफ करता है।निजी क्षेत्र का तीसरा सबसे बड़ा कर्जदाता बैंक चार समान मासिक किश्तों (ईएमआई) को छोड़ेगा, जो हर चौथे साल में यानी चौथे, आठवें, 12वें और 16वें साल में माफ की जाएंगी। एक्सिस बैंक की इस स्कीम के लिए होम लोन की अवधि कम से कम 20 साल होनी जरूरी है .यह छूट 30 लाख रुपये तक के ऋण के लिए लागू होगी, जिसे ऋण अवधि में कटौती के रूप में दिया जाएगा। साथ ही खुद घर बनाने वालों को भी लोन का फायदा मिलेगा 

शराबबंदी से कारोबार को लगा झटका

देशभर में स्टेट और नैशनल हाईवे के 500 मीटर के दायरे में बंद शराब की दुकानों से शराब कारोबार को बड़ा धक्का लगा है. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद 1 अप्रैल 2017 से देशभर में लगभग 30,000 शराब की दुकानें प्रभावित हुईं. इनमें से लगभग 15,000 दुकानें अभी भी बंद हैं और इससे शराब कारोबार को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है. शराब कारोबारियों ने इन दुकानों को दुबारा खोलने के लिए केंद्र और राज्य सरकार पर दबाव बना रखा है.सरकार की तरफ से शराब कारोबारियों को राहत देने के लिए नैशनल हाईवे और स्टेट हाईवे को डीनोटिफाई करने का काम किया जा रहा. 


और अधिक व्यापार खबर के लिए