Loading

Enquiry
articale
digital advertising
Contact Form

क्यों हिंदी दिवस 14 सितंबर को ही होता है

पूरे देश में हर साल 14 सितंबर को हिन्दी दिवस मनाया जाता है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस दिन ही हिन्दी दिवस क्यों मनाया जाता है? जब साल 1947 में देश आजाद हुआ तो देश के सामने भाषा का सवाल एक बड़ा सवाल था. भारत जैसे विशाल देश में सैकड़ों भाषाएं और हजारों बोलियां थीं. छह दिसंबर 1946 को आजाद भारत का संविधान तैयार करने के लिए संविधान सभा का गठन हुआ. संविधान में विभिन्य नियम कानून के अलावा नए राष्ट्र की आधिकारिक भाषा का मुद्दा अहम था. काफी विचार-विमर्श के बाद हिन्दी और अंग्रेजी को नए राष्ट्र की आधिकारिक भाषा चुना गया. 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने देवनागरी लिपि में लिखी हिन्दी को अंग्रेजी के साथ राष्ट्र की आधिकारिक भाषा के तौर पर स्वीकार किया था. बाद में जवाहरलाल नेहरू सरकार ने इस ऐतिहासिक दिन के महत्व को देखते हुए हर साल 14 सितंबर को हिन्दी दिवस के रूप में मनाने का फैसला किया. पहला आधिकारिक हिन्दी दिवस 14 सितंबर 1953 में मनाया गया.

और अधिक ताजा खबर