Loading

Enquiry
articale
digital advertising
Contact Form

25 जून को GST के लिए रजिस्ट्रेशन करने का एक और मौका दिया जा रहा है

एक्साइज, वैट और सर्विस टैक्स में रजिस्टर्ड कारोबारियों के लिए जीएसटी नेटवर्क पर रजिस्ट्रेशन की अवधि 15 जून को खत्म हो रही है। लेकिन जो कारोबारी गुरुवार तक ऐसा नहीं कर पाते, उन्हें एक और मौका मिलेगा। उनके लिए रजिस्ट्रेशन विंडो 25 जून को फिर खुलेगी। एक्साइज, वैट और सर्विस टैक्स के तहत अभी करीब 80 लाख असेसी हैं। इनमें से 64.35 लाख यानी 80% जीएसटीएन पर माइग्रेट हो चुके हैं। जीएसटीएन पर ही डिटेल्स अपलोड करेंगे कारोबारी...
- जीएसटीएन नए टैक्स सिस्टम का सबसे अहम हिस्सा है। कारोबारियों को हर महीने बिक्री के डाटा से लेकर रिटर्न तक, सारी जानकारियां इसी पर अपलोड करनी हैं। रिफंड भी यहीं क्लेम करना होगा।
- मौजूदा असेसी का जीएसटीएन पर माइग्रेशन पहली बार नवंबर 2016 में शुरू हुआ था। यह 31 मार्च 2017 तक चालू था, जिसे बाद में 30 अप्रैल तक बढ़ाया गया था।
- माइग्रेशन का मौजूदा फेज 1 जून से शुरू हुआ था। इन दो हफ्तों में करीब 4.35 लाख असेसी नेटवर्क पर एनरोल हो चुके हैं।वैलिड पैन वालों को रजिस्ट्रेशन जरूर मिलेगा
- जीएसटीएन चेयरमैन नवीन कुमार ने कहा कि टैक्स विभाग कारोबारियों को सहूलियत देने के लिए तैयार है। ट्रेडर्स को भी रजिस्ट्रेशन प्रॉसेस जल्द पूरी करनी चाहिए। 15 जून के बाद जो लोग बचेंगे, उनके लिए 25 जून से फिर से विंडो खोलेंगे। जिनके पास वैलिड पैन हैं, उन्हें जीएसटी रजिस्ट्रेशन जरूर मिलेगा।


और अधिक व्यापार खबर के लिए