• Article Image

    पुलिस की फायरिग करने वालों के साथ हुई मुठभेड़, एक गिरफ्तार

    Posted by -

    दो दिन पहले गाजियाबाद सिटी में फायरिग करने वालों की अमीनगर सराय रोड पर पुलिस के साथ मुठभेड़ हो गई। कार में सवार युवकों और पुलिस के बीच कई राउंड फायरिग हुई। पुलिस ने एक आरोपित को बीएमडब्ल्यू कार और तमंचे के साथ अरेस्ट कर लिया, जबकि सेंट्रो कार सवार दो युवक फरार हो गए।

    कोतवाल अजय कुमार शर्मा ने बताया कि सूचना के बाद शुक्रवार की देर शाम वह पुलिस टीम के साथ अमीनगर सराय रोड पर चेकिग कर रहे थे। इस दौरान बीएमडब्ल्यू और सेंट्रो कार को रोकने का प्रयास किया, तो दोनों कारों में सवार युवकों ने पुलिस पर फायरिग कर दी। पुलिस ने जवाबी फायरिग कर बीएमडब्ल्यू कार को पकड़ लिया। कार में एक आरोपित को भी अरेस्ट कर लिया, जबकि सेंट्रो कार सवार दो युवक फरार हो गए।

    बीएमडब्ल्यू कार सवार युवक से पूछताछ के बाद कोतवाल ने बताया कि युवक अमित पुत्र बलवान सिंह दहिया निवासी रोहट गांव, सोनीपत सिटी थाना, हरियाणा का रहने वाला है। फरार होने वाला उसका साथी आशु पंडित निवासी गाजियाबाद है, जबकि तीसरे को आशु पंडित ही जानता है। इन आरोपितों ने ही बीएमडब्ल्यू कार में 18 नवंबर को गाजियाबाद शहर के कविनगर में तीन स्थानों पर फायरिग की थी, चूंकि इनकी कार से एक बाइक में साइड लग गई थी, जिसके बाद इन्होंने पिस्टल और तमंचों से बाइक सवार पर फायरिग कर दी थी। दो स्थानों पर इन्होंने पुलिस से बचने के लिए फायरिग की। उसके बाद पुलिस की घेराबंदी को तोड़ते हुए ये गाजियाबाद से बाहर निकल गए। आरोपितों की गिरफ्तारी को गाजियाबाद में पुलिस की कई टीमें लगी हुई थी और बागपत तक भी पहुंची थी। बिजवाड़ा में जा रहे थे आरोपित.

    कोतवाल ने बताया कि आरोपित अमित की बिनौली थाना क्षेत्र में ससुराल है और ये वहीं पर शरण लेने जा रहे थे। अमित के विरुद्ध लाकडाउन के दौरान हापुड़ जनपद में शराब तस्करी का मुकदमा दर्ज है, जबकि आशु पंडित शातिर अपराधी है। उस पर गैंगस्टर और हत्या जैसे कई मुकदमे दर्ज हैं।