• Article Image

    मेरठ में फिर बढ़ने लगे कोरोना के मामले, प्रशासन के सामने कई चुनौतियां

    Posted by -

    कोरोना संक्रमण से बचाव के उपायों के प्रति लोगों द्वारा बरती जा रही लापरवाही से एक बार फिर शहर में संक्रमण के मामले बढ़ने लगे हैं। कोरोना के मामले प्रतिदिन एक दो संख्‍या के साथ बढ़ते ही जा रहे हैं। वहीं इस स्थिति को देखकर स्‍वास्‍थ्‍य विभाग परेशान है। आशंका जताई जा रही है कि ऐसे ही मामले बढ़ते रहे तो जिला प्रशासन अलर्ट जारी कर सकता है। साथ ही कोरोना गाइडलाइन में सख्‍त रुख अपना सकता है।

    मंगलवार को 13 मामले मिलने से फिर से स्वास्थ्य विभाग की चिंताएं बढ़ गईं हैं। हालांकि संक्रमण से किसी की जान नहीं गई। सीएमओ डा. अखिलेश मोहन ने बताया कि जिले में 4533 कुल सैंपल की जांच में 13 नए लोगों में संक्रमण पाया गया है। इसमें 555 लोगों की रिपोर्ट आना अभी बाकी है। साथ ही आठ लोगों के स्वस्थ होने पर उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया है। वहीं, 28 मरीज होम आइसोलेशन में रहकर अपना उपचार करा रहे हैं। अभी तक कोरोना जिले में कोरोना संक्रमण के कुल 21365 मामले सामने आ चुके हैं।

    एक सप्‍ताह में सबसे अधिक मामला
    मंगलवार को आए कोरोना मरीजों की संख्‍या एक सप्‍ताह की सबसे अधिक संख्‍या बताई जा रही है। स्‍वास्‍थ्‍य विभाग भी इस बढ़ती हुई संख्‍या से परेशानी में पड़ गया है। वहीं सोमवार को नौ नए मामले सामने आए थे जबकि रविवार को आठ नए मामले मिले थे। हालाकि इसके इतर कोरोना सैंपलों की जांच में बढ़ोत्‍तरी हुई है।

    खुल रहे हैं स्‍कूल
    मार्च में पूरे प्रदेश में सभी फार्मेट के स्‍कूल खुल रहे हैं। इसके मद्देनजर कोरोना के बढ़ते मामले प्रशासन के लिए चुनौती बढ़ा सकता है। मेरठ में भी अभी तक छह से लेकर 12 तक के स्‍कूलों में बच्‍चों का आना जारी है। लेकिन संख्‍या में अधिकता नहीं आई है। कई छात्र घर से ही शिक्षा ले रहे हैं। अब बढ़ते मामलों को कंट्रोल करना प्रशासन के सामने चुनौती होगी।