• Article Image

    बागपत में महिला ने सात साल के बेटे व पांच साल की बेटी को उतारा मौत के घाट

    Posted by -

    उत्‍तर प्रदेश के बागपत में एक कलयुगी मां ने अपने दोनों बच्‍चों का गला घोंटकर मौत के घाट उतार दिया। सात साल का बेटा व पांच साल की बेटी की हत्‍या करके महिला कमरे में ही रही। सुबह जब दूध वाले ने दूध देने के लिए दरवाजा खटखटाया तो मामले की जानकारी हुई। इस घटना से कस्बे में सनसनी फैल गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने महिला को हिरासत में ले लिया। साथ ही बच्चों के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

    छपरौली के मोहल्ला कुरैशियान में गुलाब की 11 साल पूर्व गांव कोताना निवासी अंजुम से शादी हुई थी। गुलाब हरियाणा के गुडगांव व फरीदाबाद में कपड़ों की फेरी लगाने का काम करता है और हरियाणा में ही रहता है। गुलाब की पत्नी अंजुम अपने पुत्र सात वर्षीय उमर व पुत्री पांच वर्षीय अलसिफा के साथ मोहल्ला कुरैशियान में स्थित मकान में रहती है। वहीं गुलाब के चार भाई कस्बे के दूसरे मोहल्ले में रहते है।

    गुरुवार की सुबह पांच बजे दूधिया भूरा दूध लेकर गुलाब के मकान पर पहुंचा। भूरा के अनुसार मकान के अंदर कमरे में बैठी अंजुम ने चिल्लाकर दूध नहीं लेने व दोनों बच्चों की गला घोंटकर हत्या करने बात कही। इस पर दूधिया भागकर गुलाब के भाईयों के पास पहुंचा और घटना की जानकारी दी। इस पर गुलाब के सभी भाई व अन्य स्वजन मौके पर पहुंचे और दरवाजा तोड़कर अंजुम को दबोच लिया। कमरे में बैठी अंजुम रो रही थी। जेठानी इमराना ने बताया कि अंजुम ने दोनों बच्चों की गला घोंटकर हत्या की है।

    सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों बच्‍चों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। सीओ बड़ौत आलोक सिंह ने बताया कि हत्या के कारणों का पता नहीं चला है। महिला को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। हरियाणा में गुलाब को भी घटना की जानकारी दी है। अभी तक किसी ने घटना की तहरीर नहीं दी है।