Loading

Enquiry
Enquiry
digital advertising
Contact Form

कई आतंकी हमले आठ साल में हुए विफल

ओबामा प्रशासन के दौर में पिछले आठ साल में भारत और अमेरिका का आतंकवाद निरोधी सहयोग बेहद सफल रहा इस दौरान बहुत सी आतंकी साजिशों को अंजाम दिए जाने से पहले ही विफल किया गया इससे बहुत से निर्दोष भारतीय और अमेरिकी लोगों की जान बचाई जा सकी यह बात दक्षिण एशिया मामलों के राष्ट्रपति बराक ओबामा के सलाहकार पीटर लेवॉय ने कही है, भारत के साथ सम्बन्धों की गर्मजोशी को ओबामा प्रशासन की उपलब्धि बताया कहा, इससे दोनों देशों को फायदा मिला, 
लेवॉय ने कहा, आतंकवाद निरोधी अभियान की यह महत्वपूर्ण प्रगति है दोनों देशों ने आतंक के विरुद्ध लड़ाई में नई ऊँचाईयों को छुआ है, ...और इसे जारी रहना चाहिए भारत के एनएसजी का सदस्य न बन पाने पर लेवॉय ने कहा कि दुर्भाग्य से यह कार्य राष्ट्रपति ओबामा के कार्यकाल में नही हो सका लेकिन वह दिन दूर नही जब भारत इस प्रतिष्ठित समूह का सदस्य होगा इसके लिए कार्य जारी है, भारत के एनएसजी का सदस्य न बन पाने से अमेरिका को धक्का लगा है, भारत में वह गुणवत्ता है जिससे उसे निश्चित रूप से इस समूह का सदस्य बनना चाहिए हम मानते है कि परमाणु अप्रसार संधि पर दस्तखत न करने वाले देशों को एनएसजी में शामिल किये जाने की संभावना बननी चाहिए,