Loading

Enquiry
Enquiry
digital advertising
Contact Form

बराक ओबामा ने कहा रूस और चीन कभी नहीं कर सकते अमेरिका की बराबरी

बराक ओबामा ने आज शिकागो में अपना विदाई भाषण दिया। इसमें उन्‍होंने उस समय का भी जिक्र किया जब वह पहली बार शिकागो में आए थे।
बतौर राष्ट्रपति ओबामा आज अंतिम बार अपने गृहनगर शिकागो में विदाई भाषण दिया। इस अवसर पर उनके साथ उनका पूरा परिवार मौजूद था। इसके साथ ही अमेरिकी राष्ट्रपति के तौर पर एयरफोर्स वन में उनका यह अंतिम सफर भी है। अपने विदाई भाषण में उन्होंने उस समय का भी जिक्र किया है जब वह पहली बार शिकागो में आए थे। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि जब वह सिर्फ बीस साल के थे तब पहली बार वह शिकागो आए थे। यहां पर ही उन्हें यह ज्ञात हुआ कि उन्हें अपनी जिंदगी में क्या करना है और उसका क्या महत्व है।

ओबामा ने देशवासियों को कहा धन्यवाद
उन्हें इस बात का पहली बार अहसास हुआ जिसकी वजह से वह आज यहां पर खड़े हैं। यहां पर  उन्होंने आम लोगों की आवाज उठाने व उनकी मांग के लिए लड़ना सीखा था। ओबामा ने कहा कि एक राष्ट्रपति के तौर पर बिताए आठ सालों के पश्चात आज भी वे इस बात पर भरोसा करते  हैं। कि वह आज अपने सभी देशवासियों को धन्यवाद कहना चाहते है। उन्होंने कहा -हर दिन मैंने आपसे बहुत कुछ सीखा। आप लोगों ने मुझे एक बेहतर राष्ट्रपति और एक अच्छा इंसान बनाया।

ओबामा ने कहा घर आकर अच्छा लगा
ओबामा का कहना है कि उन्हें आज घर आकर बहुत अच्छा लग रहा है। उनका कहना है कि परिवर्तन तभी होता है जब हर आम आदमी इससे जुड़ता है। आम आदमी ही परिवर्तन लाता है।  मैंने हर रोज लोगों से कुछ न कुछ सीखा है। हमारे देश के निर्माताओं ने हम सभी को अपने सपने पूरे करने के लिए स्वतन्त्रता दी है। सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए उन्होंने बताया कि हमारी सरकार ने यह कोशिश की, कि सभी को आगे बढ़ने का अवसर मिले।

रंगभेद पर बदली लोगों की सोच
रंगभेद पर अपने विचार व्यक्त करते हुए ओबामा ने कहा कि अब स्थिति में बहुत सुधार है जैसे कई वर्षों पहले हालात थे अब वैसे हालात नहीं है। लेकिन रंगभेद अभी भी समाज का एक विघटनकारी तत्व बना हुआ है। इसे समाप्त करने के लिए लोगों में हृदय परिवर्तन की आवश्यकता है, केवल कानून से काम नहीं चलेगा। उनका कहना है कि उनके कार्यकाल के दौरान देश में एक भी विदेशी आतंकी हमला नहीं हुआ है। और न ही अमेरिका पर हमला करने वाला कोई भी सुरक्षित रहेगा। ओबामा ने अमेरिकी जनता से अपील की है कि अमेरिकी मुस्लिमों के विरुद्ध किसी भी तरह के भेदभाव को नकार दें।